WC 2023: यहाँ जानिए लीग स्टेज में किस बल्लेबाज का रहा जलवा, किसके सबसे ज्यादा विकेट, किसने मारे सबसे ज्यादा चौके छक्के?

भारत बनाम नीदरलैंड मुकाबले के साथ ही वर्ल्ड कप 2023 का लीग चरण समाप्त हो गया है। खिताब जीतने के अलावा इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में किसी भी बल्लेबाज के लिए सर्वाधिक रन बनाना या किसी भी गेंदबाज के लिए सबसे अधिक विकेट लेकर विश्व क्रिकेट में अपना नाम बनाने का सुनहरा अवसर होता है।

WC 2023: यहाँ जानिए लीग स्टेज में किस बल्लेबाज का रहा जलवा, किसके सबसे ज्यादा विकेट, किसने मारे सबसे ज्यादा चौके छक्के?

ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 में दुनिया की शीर्ष 10 टीमें प्रतिस्पर्धा कर रही हैं। वनडे क्रिकेट विश्व कप 2023 की शुरुआत 5 अक्टूबर से हुई है और 19 नवंबर को गुजरात के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इस टूर्नामेंट का फाइनल खेला जाएगा।

वनडे वर्ल्ड कप का पहला संस्करण साल 1975 में आयोजित किया गया था और यह इस प्रतियोगिता का 13वां संंस्करण है।

एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप हर चार साल में आयोजित किया जाता है और इस प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करना किसी भी क्रिकेटर के लिए गर्व की बात होती है। खिताब जीतने के अलावा इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में किसी भी बल्लेबाज के लिए सर्वाधिक रन बनाना या किसी भी गेंदबाज के लिए सबसे अधिक विकेट लेकर विश्व क्रिकेट में अपना नाम बनाने का सुनहरा अवसर होता है।

जानकारी के लिए बता दे कि भारत बनाम नीदरलैंड मुकाबले के साथ ही वर्ल्ड कप 2023 का लीग चरण समाप्त हो गया है। लीग चरण में रोहित एंड कंपनी का जलवा रहा। यहां ब्लू टीम ने अपने प्रत्येक मुकाबले में जीत हासिल की। नतीजा यह रहा कि भारतीय टीम 18 अंकों के साथ अंकतालिका में टॉप पर रही। 

वहीं इस साल की सबसे फिसड्डी टीम नीदरलैंड रही। नीदरलैंड ने टूर्नामेंट में कुल नौ मुकाबले खेले। इस बीच उन्हें सात मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा, जबकि दो में जीत मिली। नीदरलैंड की टीम ने चार अंकों (-1.825) के साथ 10वें पायदान पर रहते हुए टूर्नामेंट का समापन किया।

लीग चरण में किस बल्लेबाज ने बनाए सर्वाधिक रन?

लीग चरण में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भारतीय होनहार खिलाड़ी विराट कोहली के नाम रहा। किंग कोहली ने नौ मैच खेलते हुए नौ पारियों में 99.00 की औसत से सर्वाधिक 594 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से दो शतक और पांच अर्धशतक निकले।

594 रन – विराट कोहली – भारत
591 रन – क्विंटन डी कॉक – दक्षिण अफ्रीका
565 रन – रचिन रवींद्र – न्यूजीलैंड
503 रन – रोहित शर्मा – भारत
499 रन – डेविड वॉर्नर – ऑस्ट्रेलिया

किस गेंदबाज ने चटकाए सर्वाधिक विकेट?

लीग चरण में सर्वाधिक विकेट चटकाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर एडम जंपा के नाम रहा। उन्होंने कंगारू टीम के लिए लीग चरण में कुल नौ मुकाबले खेले। इस बीच उन्हें नौ पारियों में सर्वाधिक 22 सफलता हाथ लगी।

22 विकेट – एडम जंपा – ऑस्ट्रेलिया
21 विकेट – दिलशान मदुशंका – श्रीलंका
18 विकेट – गेराल्ड कोएत्जी – दक्षिण अफ्रीका
18 विकेट – शाहीन अफरीदी – पाकिस्तान
17 विकेट – जसप्रीत बुमराह – भारत

किसने लगाए सर्वाधिक छक्के?

लीग चरण में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड भारतीय कप्तान रोहित शर्मा के नाम रहा। उन्होंने लीग चरण में नौ मैच खेलते हुए कुल नौ पारियों में 24 छक्के लगाए।

24 छक्के – रोहित शर्मा – भारत
22 छक्के – ग्लेन मैक्सवेल – ऑस्ट्रेलिया
21 छक्के – क्विंटन डी कॉक – दक्षिण अफ्रीका
20 छक्के – मिचेल मार्श – ऑस्ट्रेलिया
20 छक्के – डेविड वॉर्नर – ऑस्ट्रेलिया


किसने लगाया सर्वाधिक चौके?

लीग चरण में सर्वाधिक चौके लगाने के मामले में भी भारतीय कप्तान रोहित शर्मा सबसे आगे रहे। उन्होंने नौ पारियों में 58 बार गेंद को बाउंड्री लाइन के पार पहुंचाया।

58 चौके – रोहित शर्मा – भारत
57 चौके – क्विंटन डी कॉक – दक्षिण अफ्रीका
55 चौके – विराट कोहली – भारत
52 चौके – रचिन रवींद्र – न्यूजीलैंड
51 चौके – डेवोन कॉनवे – न्यूजीलैंड

एक दिलचस्प बात यह है कि 12 वनडे वर्ल्ड कप में 7 बार ऐसा हुआ है कि जिस देश के गेंदबाज ने सबसे अधिक विकेट हासिल किए हैं, उसी देश ने वर्ल्ड कप का ख़िताब अपने नाम किया है। 

1983 में भारत के रोजर बिन्नी, 1987 में ऑस्ट्रेलिया के क्रेग मैकडरमॉट, 1992 में पाकिस्तान के वसीम अकरम, 1999 में ऑस्ट्रेलिया शेन वॉर्न, 2007 में ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्ग्रा, 2011 में जहीर खान और 2015 में ऑस्ट्रेलिया के मिचेल स्टॉर्क ने विश्व कप में सबसे अधिक विकेट हासिल किए थे और उनकी टीम चैंपियन भी रही थी।

इसके ठीक विपरीत सिर्फ दो बार ही ऐसा हुआ है कि जब, विश्व कप में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज की टीम ने ख़िताब अपने नाम किया। साल 1979 में वेस्टइंडीज के गॉर्डन ग्रीनिज और 2007 में ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन ने अपनी टीमों के लिए वनडे वर्ल्ड कप में सर्वाधिक रन बनाए थे और उनकी टीम विश्व विजेता बनी थी।

यह उस मशहूर कहावत पर बिल्कुल फिट बैठता है, 'क्रिकेट में बल्लेबाज आपको मैच जिताते हैं, लेकिन गेंदबाज आपको टूर्नामेंट जिताते हैं।'