भाजपा पदाधिकारियों ने प्रदेश उपाध्यक्ष को बताए हार के कारण, कहा- अधिकारी तक नहीं सुनते उनकी बात

मुरादाबाद मंडल में भाजपा की लोकसभा में हुई हार की समीक्षा करने प्रदेश उपाध्यक्ष आए।

भाजपा पदाधिकारियों ने प्रदेश उपाध्यक्ष को बताए हार के कारण, कहा- अधिकारी तक नहीं सुनते उनकी बात

मुरादाबाद मंडल में भाजपा की लोकसभा में हुई हार की समीक्षा करने प्रदेश उपाध्यक्ष आए। पदाधिकारियों ने उनको बताया कि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी समस्याओं को अनसुना कर देते हैं। किस प्रकार लोगों को अपनी तरफ खींचा जाएगा।

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रज बहादुर सिंह मुरादाबाद और नगीना लोकसभा की समीक्षा करने के लिए आए थे। इस दौरान मंडल के पदाधिकारियों ने कहा कि उनके प्रत्याशी बीमार थे। यह एक बड़ा कारण था, लेकिन पुलिस अधिकारी सही मामलों में उनकी सुनते नहीं थे।

स्थनीय नेता काफी परेशान हो जाते थे। जब किसी का काम नहीं होगा तो वह भाजपा से कैसे प्रभावित होगा। छोटी छोटी समस्याओं को लेकर आए दिन वे शिकायत करते थे। देहात के एक पदाधिकारी ने कहा कि हारने के बाद भी क्षेत्र पर ध्यान देना चाहिए।

सड़कों के खराब होने के बारे में कई बार बैठक में मुद्दा उठाया गया,लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की। इसके बावजूद कार्यकर्ताओं ने धैर्य बनाए रखा। अंदर की बातें बाहर नहीं आती थी। कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाने के लिए कोई उपाय नहीं था।

पूरी बातों को सुनने के बाद प्रदेश उपाध्यक्ष ने इन मामलों को वरिष्ठ पदाधिकारियों के समक्ष रखने का आश्वासन दिया। बता दें कि मुरादाबाद लोकसभा चुनाव में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा।

योग दिवस और बलिदान दिवस मनाएं
भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का कार्यक्रम है। 23 जून को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान दिवस है। दोनों कार्यक्रमों को कार्यकर्ता पूरे जोश के साथ मनाएं। हार से मनोबल नहीं घटाना चाहिए।

बैठक की अध्यक्षता महानगर अध्यक्ष संजय शर्मा और संचालन महानगर महामंत्री श्याम विहारी शर्मा ने किया। महानगर महामंत्री ने कहा कि उन्होंने कोई समस्या नहीं सुनी है। प्रदेश उपाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया है।

इस दौरान क्षेत्रीय महामंत्री (ब्रज क्षेत्र) नागेंद्र शिकरवार, एमएलसी डॉ. जयपाल सिंह व्यस्त, लोकसभा प्रभारी डॉ. विशेष गुप्ता, केके मिश्रा, नत्थू कश्यप, चंदर प्रजापति सहित मंडलों के अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।