सावधान! आप भी सोते है पेट के बल, जान लीजिए इससे होने वाले नुकसान

अच्छी मेंटल हेल्थ के लिए सुकून भरी नींद लेना बेहद जरूरी है। बहुत लोग हैं, जिन्हें पेट के बल सोना काफी अच्छा लगता है. ये उनकी फेवरेट स्लीपिंग पोजिशन होती है. मगर क्या पेट के बल सोना शरीर और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है? कहीं ये स्लीपिंग पोजिशन आपके शरीर को नुकसान तो नहीं पहुंचा रही? 

सावधान! आप भी सोते है पेट के बल, जान लीजिए इससे होने वाले नुकसान

सोने के मामले में हर किसी की अपनी पसंदीदा पोजीशन होती है. कोई पीठ के बल सोना पसंद करता है तो किसी को पेट के बल सोना ज्यादा आरामदायक लगता है. अच्छी मेंटल हेल्थ के लिए सुकून भरी नींद लेना बेहद जरूरी है। सोने का तरीका सभी का अलग-अलग होता है। कई लोग कमर के बल सीधे होकर, तो कई लोग किसी खास करवट सोना पसंद करते हैं। इन पोजिशन के अलावा अक्सर कुछ लोग पेट के बल भी सोते हैं। 

जानकारी के लिए बता दें, ये पोजिशन भले ही आपको आराम देती हो, लेकिन आने वाले समय में ये आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। इस तरह सोने से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव देखने को मिलता है. ऐसे बहुत लोग हैं, जिन्हें पेट के बल सोना काफी अच्छा लगता है. ये उनकी फेवरेट स्लीपिंग पोजिशन होती है. मगर क्या पेट के बल सोना शरीर और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है? कहीं ये स्लीपिंग पोजिशन आपके शरीर को नुकसान तो नहीं पहुंचा रही? 

डॉक्टर और स्लीप एक्सपर्ट का कहना है कि पेट के बल सोना आपको चाहे कितना भी आरामदायक क्यों न लगे, लेकिन ये एक अच्छी स्लीपिंग पोजिशन नहीं है. सिर्फ 7 पर्सेंट ही ऐसे लोग हैं जो सोने के लिए इस पोजिशन को चुनते हैं. जबकि बाकी लोगों को पीठ के बल सोने वाली पोजीशन ही सबसे बेस्ट पोजीशन लगती है. क्लीवलैंड क्लिनिक की एक स्टडी के मुताबिक, पेट के बल सोने से रीढ़ की हड्डी पर बुरा प्रभाव पड़ता है. रीढ़ की हड्डी झुक जाती है. व्यक्ति के शरीर के बिगड़ने का खतरा पैदा हो सकता है. 

शरीर में दर्द 

पेट के बल सोने से आपको शरीर में दर्द की समस्या बढ़ सकती है। भले ही ये शुरू में आरामदायक लगे, लेकिन इससे आगे चलकर दिक्कत खड़ी हो सकती है। इस तरह सोने से आपकी रीढ़ पर दबाव ज्यादा बनता है, जिससे आप पीठ दर्द का शिकार हो सकते हैं। इसके अलावा ये गर्दन में दर्द की भी वजह बनता है।

स्पाइन के लिए खराब

पेट के बल सोने से आपकी पूरी बॉडी का वजन आपके स्पीइन पर पड़ता है, जिससे ये खिंचाव आगे चलकर रीढ़ की हड्डी से जुड़ी बड़ी समस्या की वजह बन सकता है। इसलिए इस पोजिशन में सोने से परहेज करना चाहिए।

ब्रेस्ट पेन

अक्सर महिलाओं में ब्रेस्ट पेन की वजह पेट के बल सोना देखा जाता है। चूंकि इस पोजिशन में ब्रेस्ट पर दबाव ज्यादा पड़ता है, जिससे रेगुलर इस तरह सोने से ब्रेस्ट में दर्द की शिकायत देखने को मिल सकती है। ऐसे में इस पोजिशन में सोना आज से ही कम कर दें।

खराब डाइजेशन

पेट के बल सोने से आपका खाना सही ढंग से पच नहीं पाता है। चूंकि इस पोजिशन में पाचन क्रिया पूरी तरह से काम नहीं कर पाती है जिसके कारण पेट में दर्द की शिकायत देखने को मिलती है। इसलिए ऐसा करने से बचें।

त्वचा के लिए नुकसानदायक

जब आप पेट के बल सोते हैं तो आपका चेहरा आपके तकिए के ऊपर रहता है। इससे आपकी स्किन धूल-मिट्टी और बैक्टीरिया की चपेट में आ सकती है, जिससे कील-मुहांसे हो सकते हैं। इसके अलावा इस तरह सोने से आपकी त्वचा को पर्याप्त ऑक्सीजन भी नहीं मिल पाती है, जिससे झुर्रियां आने लगती हैं।

पेट के बल क्यों नहीं सोना चाहिए?

जब आप पेट के बल सोते हैं तब आपकी पीठ के निचले हिस्से पर एक तनाव पैदा होता है. सिर्फ इतना ही नहीं, एक तरफ गर्दन घुमाकर सोने से गर्दन में दर्द के साथ-साथ अकड़न की समस्या पैदा हो सकती है. इसके अलावा, कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत का सामना भी करना पड़ सकता है. एक्सपर्ट की मानें तो पेट के बल सोने से कंधे में तेज दर्द की प्रॉब्लम भी फेस करनी पड़ सकती है. क्योंकि इस पोजीशन में सोते वक्त ज्यादातर लोग अपने बांहें ऊपर की ओर कर लेते हैं.


किस स्लीपिंग पोजीशन में सोना बेहतर

हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि आप करवट लेकर या पीठ के बल आराम से सो सकते हैं. लेकिन अगर किसी स्लीप एपनिया है या खर्राटे लेने की समस्या है तो ऐसे लोगों को पीठ के बल नहीं सोना चाहिए. जिन लोगों को दिल से जुड़ी दिक्कतें हैं, उन लोगों को दाहिनी तरफ करवट लेकर सोना चाहिए. पाचन से जुड़ी समस्याओं का सामना कर रहे लोगों के लिए बाईं करवट सोना ज्यादा बेहतर माना जाता है. क्योंकि इससे पेट पर दबाव नहीं पड़ता.